क्या अलार्म की आवाज से उठाना अच्छा होता है

लोग सुबह उठने के लिए अलार्म सेट करते हैं. आपने भी कभी ऐसा किया होगा. अलार्म हमेशा चर्चा का विषय रहा है. क्या अलार्म की आवाज से उठाना अच्छा है. ऐसे में कुछ सवाल उठते हैं.

For example –

  • क्या अलार्म जीवनशैली को परभावित करता है.
  • कहीं आप गलती तो नहीं कर रहें हैं.
  • क्या इससे हेल्थ खराब होती है.
  • क्या इसका कोई विकल्प है

ऐसे ही बहुत से सवाल होंगे. जिनका जवाब आपको मालूम नहीं है. तो आइये जनते हैं, इसके पीछे की सच्चाई.

हर दिन करते हैं गलती

प्रकृति ने मानव जाती को सबसे बुद्धिमान बनाया है. समय के साथ मानव अधिक बुद्धिमान बन गया है. मानव का प्रकृति से लगाव छुट रहा है. पहले जैसी चैन की नींद लेने का समय नहीं है. जीवनशैली एकदम खराब हो चुकी है . हमेशा चिंता में रहते हैं.

अलार्म की आवाज से उठाना सही या गलत

कुछ लोग इसे ठीक मानते हैं तो कुछ गलत. असल में अलार्म से उठाना गलत होता है. नींद में बॉडी कम एक्टिव होती है. ऐसे में अलार्म अचानक धवनी पैदा करता है. इससे आप तो अचानक से उठ जाते हैं मगर शारीर के भीतरी सिस्टम को, इसमे थोडा समय लगता है. इससे शारीर के काम करने का संतुलन बिगड़ने लगता है.

आपने ये भी ध्यान दिया होगा की जब अलार्म बजता है तो एकदम से 1 सेकंड के लिए आप को झटका सा लगता है. यही एक चीज हमारी हेल्थ के लिए हानिकारक होती है. हमें नेचुरल तरीके से ही उठाना चाहिए.

 

क्या इसका कोई विकल्प है

अगर आप अलार्म के बिना उठ ही नहीं सकते. तो अलार्म में ये सेटिंग कर लें.

  • मोबाइल के अलार्म में अपनी पसंद का कोई गाना सेट कर लें. जिसकी आवाज सुरुवात में बहुत धीमे हो.
  • अलार्म की आवाज को कम रखें.
  • अलार्म को हमेशा कुछ दुरी पर रखें जिससे उसके बजने पर आपकी झटके से नींद ना खुले.
  • रात को जल्दी सोने की कोशिश करें जिससे आपकी नींद सही समय पर खुल जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *