Connect with us

धनतरेस के दिन क्यों जलाते हैं दीए

धनतरेस के दिन क्यों

Jyotish

धनतरेस के दिन क्यों जलाते हैं दीए

जैसे की आप लोग जानते है की धनतरेस से दिवाली के पर्व की शरुवात हो जाती है। इस पर्व के मोके पर जहा सोना चांदी खरीदना शुभ माना गया है वही इस दिन धन के देवता कुबेर और देवताओ के चिकित्सक धन्वंतरि महाराज की खास पूजा का भी प्रावधान है। वही इस दिन यम की भी पूजा होती है।

धनतरेस के दिन क्यों जलाते हैं दीए

धनतरेस के दिन क्यों जलाते हैं दीए

माना जाता है की इस दिन यम की पूजा करने से यम के द्वारा दी जाने वाली यातनाओ से मुक्त हो जाता है। धनतरेस की शाम को दीप दान किये जाते है। माना जाता है की ऐसे करने से यम प्रसन होते है और इससे व्यक्ति की अकाल मृत्यु नहीं होती है।

dhantares

dhantares

लेकिन इस यम के दिए को जलाने का तरीका थोड़ा अलग है। परिवार के सभी सदस्यो के घर आने और खाने पीने के बाद  सोते समय जलाया जाता है। इस दीप को जलाने के लिए पुराने दिए का प्रयोग होता है। तथा पुराने कपडे की बाती भी उसमे डाली जाती है। दिए में सरसो का तेल डाला जाता है। तथा पुराने कपडे की बाती बनाकर जलाई जाती है।

पढ़े :  ज्वेलरी और पैसा रखने वाले स्थान पर कुछ चीजों का ध्यान जरूर रखें

घर में दिया जलाकर उसको घर के हर कोने में दिखाकर तब घर के बाहर दक्षिण की और मुड़कर नाली या कूड़े के ढेर के पास रखा जाता है।

More in Jyotish

Advertisement

Popular Posts

Advertisement

Title

To Top