Connect with us

पहली बार शत्रुघ्न सिन्हा ने तोड़ी नागरिकता कानून पर चुप्पी, मोदी से बोले कहीं ये

मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल को अपनी कूटनीति के दम पर लोकसभा और राज्यसभा से पास करवा लिया और ये देश में कानून बन गया। हालांकि इसके बाद मोदी सरकार अब बैकफुट पर आ गई है। इसकी वजह है सड़कों पर हो रहा बवाल जो नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध में किया जा रहा है। असम हो, बंगाल हो, दिल्ली या फिर यूपी, सब जगह इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। कानून पर राजनीति भी गरमा गई है। कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पहली बार इस कानून को लेकर चुप्पी तोड़ दी है।

मोदी और शाह ने की समझाने की कोशिश

नागरिकता कानून को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह लोगों को जागरूक कर रहे हैं। मोदी ने मंगलवार को अपनी रैली में साफ कहा कि ये कानून देश के किसी भी मुस्लिम की नागरिकता नहीं छीन रहा है। वहीं अमित शाह ने कहा कि ये कानून नागरिकता देने वाला है, न कि लेने वाला। दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी ने इस मुद्दे को राष्ट्रपति के समझ उठा दिया। सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति से हिंसा को देखते हुए ठोस कदम उठाने की मांग कर दी है।

जानें पहली बार क्या बोले कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा

शत्रुघ्न सिन्हा ने नागरिकता कानून पर पहली बार चुप्पी तोड़ दी। उन्होंने मोदी सरकार पर बड़ा सवाल उठा दिया है। शत्रुघ्न मोदी को इशारों में संबोधित करते हुए बोले कि सर ये कैसे हालात हैं जहां सांसद भयभीत हैं। कांग्रेस नेता बोले कि आशा करता हूं कि कैब और एनआरसी कहीं अराजकता में तब्दील न हो जाएं। इसके साथ ही शत्रुघ्न ने बड़ा सवाल उठा दिया और बोले कानून के लिए इतनी जल्दी क्या थी। शत्रुघ्न ने कहा कि नागरिकता कानून और एनआरसी ही मुख्य मुद्दा है। कांग्रेस नेता ने कहा कि कहीं ये उन मुख्य समस्याओं जैसे बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था व बढ़ते दामों से ध्यान हटाने की कोशिश तो नहीं है जिसको हमारा देश झेल रहा है।

To Top