Connect with us

जाकिर नायक के बयान से मोदी और शाह बैकफुट पर

news

जाकिर नायक के बयान से मोदी और शाह बैकफुट पर

जाकिर नायक के बयान ने सनसनी फैला दी है. भाजपा बैकफुट पर है. जाकिर नायक इस्लामी स्कॉलर हैं लेकिन बांग्लादेश में हुए आतंकवादी हमले के बाद उनका नाम सामने आया था. भारत से वे इन दिनों फरार हैं और मलेशिया में पनाह लिए हुए हैं. उसकी संस्था पर पाबंदी लगा दी गई है. लेकिन अब उसी जाकिर नायक के बयान ने सनसनी फैला दी है क्योंकि उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाया है. आरोप के बाद कांग्रेस ने दोनों नेताओं पर हमला बोला है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाया है कि जाकिर नाइक ने सितंबर 2019 में बयान दिया था कि मोदी जी और अमित शाह जी ने उनके पास अपना दूत भेजा था. नाइक ने कहा था कि उन्हें भरोसा दिया गया था कि अगर वह आर्टिकल 370 हटाने का समर्थन करता है तो उनके खिलाफ लगे सारे आरोप वापस ले लिए जाएंगे और उन्हें देश लौटने का मौका भी दिया जाएगा. दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी जी और शाह जी ने इस बयान की निंदा क्यों नहीं की.

दिग्विजय सिंह ने इसे लेकर एक के बाद एक कई ट्वीट किए और लिखा कि जो उन से असहमत है, उसे मनाओ, नहीं मानता है तो उसे धमकी दो. फिर भी नहीं मानता है उसे पद या पैसे की लालच दो. फिर भी नहीं मानता है तो उस पर झूठे आरोप लगा कर बदनाम करो. मान जाता है तो सारे आरोप खारिज और नहीं मानता है तो उस पर राष्ट्रद्रोही होने का आरोप लगाओ और खूब प्रचारित करो. दिग्विजय सिंह ने कहा कि यदि ऐसा मौक़ा आता है जब उसका उपयोग किया जा सकता है तो वे वही करते हैं जिसका उल्लेख ज़ाकिर नाइक ने किया है. उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा कि माननीय प्रधानमंत्री जी और गृह मंत्री जी को ज़ाकिर नाइक के आरोप का विधिवत खंडन करना चाहिए. अगर नहीं करते हैं तो यही माना जायेगा कि ‘देशद्रोही’ ज़ाकिर नाइक का आरोप सही है.

इस बीच, नाइक के दावे को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ दिग्विजय के हमले पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पलटवार किया. विजयवर्गीय ने कहा कि मैं मोदी और शाह की टीम का आदमी हूं. लेकिन मुझे नाइक के संबंधित दावे की कोई जानकारी नहीं है. दिग्विजय जबरन अफवाह फैलाकर देश का वातावरण प्रदूषित कर रहे हैं. एनआरसी के खिलाफ केंद्र सरकार पर हमला करते हुए दिग्विजय सिंह ने बुधवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने माता-पिता का जन्म प्रमाणपत्र दिखा देते हैं, तो देशवासी सरकार को अपने बारे में सारे दस्तावेज मुहैया कराने को तैयार हैं. दिग्विजय ने कहा कि हम तो कहते हैं कि मोदी अपने पिता और माता का जन्म प्रमाणपत्र हमें बता दें, इसके बाद हम सब कागज दे देंगे.

पढ़े :  पुलिस के बारे में हैरान कर देने वाले 7 रोचक तथ्य, एक नजर जरूर देखें
Continue Reading
You may also like...

More in news

To Top